चीन डोकलाम को हड़पने की पूरी कोशिश कर रहा है. लेकिन अब चीन के सारे इरादों पर पानी फिरता नज़र आ रहा है. भारत चीन की एक भी धमकी से नहीं डर नहीं रहा है. और इसी बात से चीन चिढ़ा हुआ है. आपको ये जानकर हैरानी होगी कि बात-बात पर भारत को आँख दिखाने वाला चीन अंदर से खोखला है.

आपको बता दें कि चीन इस समय बुरी तरह क़र्ज़ में डूबा हुआ है. भारत से भी ज्यादा कर्ज चीन सरकार पर है. चीन की सरकार चीन की जनता का ध्यान इन मामलों से हटाने के लिए भारत से उलझलने की कोशिश कर रही है. चीन को अब भी यही लग रहा है कि भारत अब भी 1962 वाला भारत है. हालाँकि, अब भारत की तस्वीर कुछ और ही है. आज भारत भी दुनिया के ताकतवर मुल्कों में शुमार हो चुका है. आज हम आपको चीन समेत दुनिया के उन देशों के बारे में बताएँगे जिनपर भारी कर्जा है.

चीन लगातार भारत को दबाने की कोशिश कर रहा है लेकिन वो खुद आज बहुत कर्ज़े में डूबा हुआ है. चीन पर इतना कर्जा है कि अब वैश्विक संगठनों को चीन की इकोनॉमी पर शक होने लगा है. चीन पर अब तक के कर्जे का कुल अनुमान 1437 अरब डॉलर है. जबकि भारत पर चीन से बहुत कम 472 अरब डॉलर का विदेशी कर्ज है.

चीन भारत से लगभग तीन गुना से ज़्यादा कर्ज़े में डूबा हुआ है और चीन आने वाले वक्त में बड़ी मंदी के दौर से गुज़र सकता है. अनुमान लगाया जा रहा है कि आने वाले समय में चीन की आर्थिक हालत ठीक नहीं होगी उसे काफी कठिनाईओ से गुज़ारना पड़ सकता है. ऐसे में कई वैश्विक संगठन अब चीन को लेकर घबराए हुए हैं.

अब हम आपको दुनिया के बड़े कर्जदार देशों के बारे में बताते हैं.

1-दुनिया का सबसे ताकतवर देश अमेरिका कर्जे में सबसे ज्यादा डूबा हुआ है. अमेरिका पर लगभग 18286 अरब डॉलर का विदेशी कर्ज है.


2- एक वक्त पर दुनिया पर राज करने वाला यूनाइटेड किंगडम कर्जे के मामले में दूसरे स्थान पर है. UK पर कुल 7499 अरब डॉलर का विदेशी कर्ज है.
3- फ्रांस इस लिस्‍ट में तीसरे नंबर पर है. यूरोप के विकसित देशों में से एक फ्रांस पर करीब 5,250 अरब डॉलर का विदेशी कर्ज चढ़ा हुआ है.
4- इस लिस्ट में जर्मनी चौथे नंबर पर है जर्मनी पर कुल 5,084 अरब डॉलर का कर्ज है.


5- पांचवे नंबर पर यूरोप का देश नीदरलैंड है जिसके ऊपर 4,124 अरब डॉलर का कर्ज बकाया है.
6- 3900 अरब डॉलर के कर्ज में डूबा लग्‍जमबर्ग 6वें स्थान पर है.
7- 3408 अरब डॉलर के कर्ज के साथ इस लिस्‍ट में जापान सातवें स्थान पर है.